become an author

रामलला की मूर्ति गढ़ने में निकला पत्थर प्रसाद स्वरूप भक्तों को दिया जा रहा है।

अयोध्या। श्रीराम लला की प्राण प्रतिष्ठा में आमंत्रण के बाद पहुंचे विशिष्ट और अति विशिष्ट महानुभावों को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से आजीवन संग्रहणीय प्रसाद के रुप में दो अनमोल सामग्री भेजी जा रही है। इसमें एक है श्यामल पत्थर का टुकड़ा जो रामलला की मूर्ति गढ़ने के दौरान छेनी हथौड़ी से तराशने में निकला है। साथ ही है विशुद्ध चांदी का सिक्का जिस पर नवनिर्मित भव्य राम जन्मभूमि मंदिर उत्कीर्ण है। विदित हो कि राम जन्मभूमि मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा में लगभग साढ़े आठ हजार महानुभाव देश और विदेश से पहुंचे थे।

सभी आमंत्रितों को मंदिर परिसर में प्रसाद के रूप में ढेर सामग्री दी गई थी। बाद में तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने इसमें दो अनमोल और सदैव संग्रहणीय प्रसाद के रूप में मंदिर उत्कीर्ण चांदी का सिक्का और राम लला की मूर्ति गढ़ने के दौरान निकले पत्थर के टुकड़ों को विशेष प्रसाद के रूप में भेजने का निर्णय लिया। ट्रस्ट के महामंत्री चम्पत राय के अनुसार मंदिर परिसर में पहुंचे आमंत्रितों के आधार कार्ड में उल्लिखित पते पर यह विशेष प्रसाद भेजा जा रहा है। अब तक विदेशी अतिथियों को वायु सेवा से भेजा भी जा चुका है। चांदी का सिक्का अशोक सिंघल फाउंडेशन ने तैयार कराया है। प्रसाद स्वरूप भेजे जा रहे पत्थर के अनगढ़ टुकड़ों को संग्रहणीय स्वरूप दिया गया है।

Leave a Comment

× How can I help you?